Nasha short story in hindi | नशा हिन्दी कहानी

सुबह सूरज निकलते ही उसने लिखना सुरु कर दिया था । एक दीवार पर लिखते ही साइकिल उठाकर अगली दीवार पर लिखने चला जाता ।
एक दीवार पर लिखने के उसे 5 रूपए मिलते थे ।।।

Nasha short story in hindi


ठेकेदार ने कहा था -: शाम तक 50 दीवारे लिखी हुई चाहिये । उसे यकीन था कि वो शाम तक 50 दीवारो पर लिख देगा ।

》Bewafa dost hindi story

लेकिन 3 बजते - बजते वो बहुत थक गया था । उसका पूरा बदन दर्द कर रहा था । कमर का दर्द तो उससे सहा नहीं जा रहा था । उसे लगा कि अब वो नहीं लिख पायेगा ।।।

फिर वो एक दीवार के सहारे बैठा ही था ।
कि अचानक ठेकेदार कि मोटर साइकिल आ कर रुकि ।।।

》Real short story in hindi 

उठ अभी तो तुझे बहुत लिखना है । सुबह जब हेल्थ मिनिस्टर इधर से गुजरे तो उन्हें सड़क के किनारे हर दीवार पर लिखा हुआ दिखाई देना चाहिये ।।।

वो सर्दी से कपकपाता हुआ बोला ।
ठेकेदार जी बदन बहुत दर्द कर रहा है । और मैंने सुबह से कुछ खाया भी नहीं है ।।।

》Ek budi maa  sad sms in hindi

ठेकेदार को उस पर तरस आ गया और उसने मोटर साइकिल में लगी बैग से एक बोतल निकाली और बोला । ले थोड़ी सी पी ले सब ठीक हो जाएगा बोतल देखते ही उसकी आँखों में चमक आ गयी । उसने थोड़ी के बजाये आधी बोतल हलक में उतार ली ।।।

और अब पूरे जोस के साथ नारा लिखने लगा ।।।

सराब से करो किनारा ।।।
आगे बढ़ता देश हमारा ।।।
Nasha short story in hindi | नशा हिन्दी कहानी Nasha short story in hindi | नशा हिन्दी कहानी Reviewed by Mohd sarfraj on February 11, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.