Real short story in hindi | Beta ab bada ho gaya

कविता मजदूरी करके अपना और अपने बेटे का पेट भरती थी । उसके पति का स्वर्गवास हुए 5 साल हो गए थे । । ।

Real short story in hindi

》Maa ka dil hindi emotional story 

एक दिन जब उसका बेटा स्कूल से घर बापस आया तो उससे बोला ।
माँ अब मैं बाङा हो गया हूँ । मुझे नयी पेंट चाहिए क्योंकि स्कूल में मेरी फटी पेंट देखकर सब हसते है । माँ बोली बेटा कल दिलवा दूंगी । । ।

》Heart broken love story in hindi

अगले दिन जब कविता ठेकेदार से पैसे मांगती है तो वो कहता है अभी 3 दिन पहले ही तो तुम्हें पैसे दिए थे । इसलिए अभी मैं तुम्हे पैसे नहीं दे सकता । । ।

फिर वो अपने बेटे को लेकर एक पहचान की दुकान पर गयी और पेंट लेकर पैसे उधार करने के लिए कहा । दुकानदार ने पैसे उधार करने के लिए साफ मना कर दिया । । ।

》Mother emotional hindi story

पास ही खड़े उसके बेटे ने जब यह बात सुनी तो अपनी माँ से बोला ।
माँ मुझे नयी पेंट नहीं चाहिए बाद में ले लेगे । बैसे भी गर्मी का मौसम आ गया है । तो मैं कल से हाफ पेंट पहन कर जाया करूँगा  । इतना सुनते ही कविता की आँखों में आंसू आ गए और अब उसको समझ आ गया की बाकई में अब बेटा बड़ा हो गया है । । । । 
Real short story in hindi | Beta ab bada ho gaya Real short story in hindi | Beta ab bada ho gaya Reviewed by Mohd sarfraj on February 06, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.