प्यार या धोखा | emotional story in hindi

रोशनी का आज कॉलेज में पहला दिन था । वो कॉलेज में किसी को भी जानती नहीं थी । तभी उसकी नजर एक लड़के पर पड़ी ।

Love or cheating emotional story in hindi


और देखते ही उस लड़के को पसन्द करने लगी । अब रोशनी रोज कॉलेज जाती और छुपछुप कर उस लड़के को देखते रहती । पर लड़के को बिलकुल ही यह बात मालूम नहीं थी । एक दिन रोशनी ने हिम्मत करके लड़के से अपने प्यार का इज़हार कर दिया । लड़का यह सुनते ही खामोस हो गया । फिर रोशनी ने उस लड़के से कहा -:
क्या हुआ क्या मैं तुम्हे पसन्द नही । क्या मैं ख़ूबसूरत नहीं । क्या तुम किसी और से प्यार करते हो ।

लड़का बोल -: ऐसी कोई बात नहीं है । पर मैने यह कभी सोचा नहीं था ।

रौशनी बोली -: अब बताओ तुम्हे मुझसे प्यार है या नहीँ ।

लड़का बोला -: ठीक है मुझे एक महीने का बक्त चाहिये । क्या तुम मेरे लिए एक महीने तक इन्तेजार कर सकती हो ?
रोशनी बोली -: हॉ कर सकती हू ।
फिर एक महीने के बाद वो दोनों मिले और लड़के ने कहा - : ई लव यू यार ।
अब मैं तुमसे प्यार करने लगा हूं । जो लड़की एक महीने तक मेरा इंतज़ार कर सकती है । वो मुझे कभी धोखा नहीं देगी । फिर वो दोनों कॉलेज में एक साथ रहते । और साथ ही घूमने के लिए जाते ।

एक दिन लड़के के पापा ने लड़के को रोशनी के साथ घूमते हुए देख लिया । जब लड़का घर गया तो उसके पापा ने पूछा - : वो लड़की कौन थी । जिसके साथ तुम घूम रहे थे ।

》हिन्दी इमोशनल कहानी गरीबी 

लड़के ने कहा - : पापा उस लड़की से मैं प्यार करता हूँ । और शादी भी उसी से करुंगा । लड़के की ज़िद के आगे उसके मम्मी पापा मान गये । और लड़की के घरवालो से मिलने के लिए कहा ।

ये सुनकर लड़के ने ख़ुशी - ख़ुशी रोशनी को फ़ोन किया । और सारी बात उसको बतायी ।

रोशनी बोली - : शादी की इतनी जल्दी क्या है । तो लडका बोला - : अरे अभी शादी नहीं होगी । अभी तो बात पक्की होगी । शादी तो 2-3 साल के बाद होगी ।

लड़की बोली - : ठीक है मैं कल अपनी मम्मी से बात करके तुम्हे बताऊगी । सुबह जब लड़के ने लड़की को फ़ोन किया तो लड़की ने कॉल रिसीव नहीं किया । लड़के के बार - बार फ़ोन करने पर भी लड़की ने कॉल रिसीव नहीं किया ।

दूसरे दिन जब लड़का कॉलेज गया और उस लड़की से पूछा क्या हुया । ऐसा क्यूँ कर रही हो ।

》एक अधूरी लव स्टोरी 

लड़की ने कहा - : मेरी मम्मी ने मुझे बहुत मारा और कहा - : अगर मैं तुमसे शादी करूंग़ी तो वो फाँसी लगा कर अपनी जान दे देगी । यह सुनकर लड़का मायुस हो गया । और सोचने लगा । जिससे मैने सब कुछ छोडकर प्यार किया । जिसके लिए मैने अपनी इज्जत तक दाँव पर लगा दी । उसको मेरी जरा भी परवाह नही ।
लड़का बहाँ से चला गया और अकेले में जाकर खूब रोया ।।।
प्यार या धोखा | emotional story in hindi प्यार या धोखा | emotional story in hindi Reviewed by Mohd sarfraj on March 20, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.