Sas bahu story in hindi | घर घर की कहानी

एक बूड़ी औरत किसी इंसान से कह रही थी ।।।
क्या बताऊ बेटा मैं तो अपने ही घर में पराई सी हो गयी हूँ । वो देखो मेरे पति भी बहुत मजबूर है । पैरो से अपाहिज होने की बजह से कुछ नहीं कर सकते । बस मुह से कुछ कहते रहते है पर उनकी सुने कौन ।।।

Sas bahu story in hindi


बहु घर में सब जगह ताला डालकर चाबी अपने पास लेकर घूमती रहती है ।

》माँ heart touching story 

अगर मैं मुन्ना को गोद न लेती तो मुझे कम से कम एक ही दुःख होता की मेरी कोई औलाद नहीं है ।

मगर अब तो मुझे सौ दुःख है । क्या इसी दिन के लिए मैने मुन्ना को गोद लिया था ।

》Mother emotional story 

इतना कहते - कहते बूड़ी औरत अपनी आँखों से आंसू पोछते हुये अपने घर की तरफ चल पड़ी ।।।
Sas bahu story in hindi | घर घर की कहानी Sas bahu story in hindi | घर घर की कहानी Reviewed by Mohd sarfraj on March 03, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.