Short story father and son | बाप और बेटा

एक बाप अपने जवान बेटे के साथ गार्डन में घूमने गया । गार्डन में वो थक कर एक जगह बैठ गया । वो जहाँ बैठा था उसके सामने एक बड़ा सा बरगद का पेड़ था ।

Short story father and son


बुढे बाप ने देखा एक परिन्दा उस पेड़ पर बैठा है । बूढ़े बाप ने परिन्दे को देखकर अपने बेटे से कहा ।

》रियल स्टोरी इन हिन्दी 

बेटा यह कौन सा परिंदा पेड़ पर बैठा है ।

बेटे ने जवाब दिया ।।।
पापा यह मोर  है ।
दोबारा फिर बूढ़े बाप ने अपने बेटे से पुछ ।
बेटे ने फिर जवाब दिया पापा मोर ।

तीसरी बार जब बूढे बाप ने बेटे से पूछा ।
बेटा वो कोन सा परिंदा है ।
तो बेटे ने ग़ुस्से से कहा ।

पापा आपको समझ नहीं आ रहा है ?
कितनी बार मैं आपसे कह चुका हु की वो मोर  है ।

इतना सुनने के बाद उस बूढे बाप ने आँखों में आंसू भरकर अपने बेटे से कहा ।।।

मेरे बेटे जब तुम छोटे थे तब यही बात तुम मुझसे 100 - 100  बार पूछते थे । मैं तुमको हर बार जवाब देता था की मोर है ।

》मोरल स्टोरी मासूमियत 

लेकिन मैने तो तुमसे सिर्फ तीन ही बार पूछा और तुम गुस्सा होने लगे ।।।
Short story father and son | बाप और बेटा Short story father and son | बाप और बेटा Reviewed by Mohd sarfraj on March 06, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.