Short story for kids | मुर्ख बंदर

कभी भी मुर्ख से दोस्ती नहीं करनी चाहिए और न ही उसका साथ अच्छा होता है ।।।

एक बार एक आदमी ने अपनी सेवा के लिए एक बन्दर पाला । वो आदमी जहाँ भी जाता बन्दर को साथ लेकर जाता । बन्दर हमेशा उसके साथ ही रहता ।।।

Short story for kids


एक दिन जब वो आदमी सो गया तो बन्दर उसके ऊपर पंखे से हवा करने लगा । इतने में एक मक्खी आकर उस आदमी की गरदन पर बैठ गयी । बन्दर ने मक्खी को देखा और गरदन से हटा दिया । मक्खी दोबारा उस आदमी की गरदन पर आकर बैठ गयी। बन्दर ने फिर से मक्खी को गरदन से हटा दिया । जब मक्खी तीसरी बार उस आदमी की गर्दन पर बैठी तो बन्दर को गुस्सा आ गया और उसने मक्खी को मारने की ठान ली ।।।

》Love you papa hindi sms 

बन्दर ने पास पड़ी एक कुल्हाड़ी उठाई और मक्खी के ऊपर जोर से बार किया । कुल्हाड़ी के बार से मक्खी तो नहीं मरी पर गद॔न कटने की बजह से उस आदमी की मौत हो गयी ।।।

》Heart touching story of child 

इसलिए कहते है की कभी भी मुर्ख से दोस्ती नहीं करनी चाहिये । और न ही उसका साथ अच्छा होता है ।।।
Short story for kids | मुर्ख बंदर Short story for kids | मुर्ख बंदर Reviewed by Mohd sarfraj on March 10, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.