Short story on Humanity in hindi | इंसानियत

एक बार एक आदमी तालाब के किनारे बैठा था । तभी उसने देखा पानी में एक बिच्छु पड़ा है । आदमी ने तुरंत ही बिच्छु को पानी से उठा लिया । बिच्छु ने उस आदमी को डंक मर दिया । डंक मारने की बजह से बिच्छु फिर पानी में गिर गया ।।।

Short story on Humanity in hindi


आदमी ने बिच्छु को डूबने से बचाने के लिए फिर पानी से उठा लिया । बिच्छु ने फिर डंक मारा और पानी में गिर गया । आदमी ने बिच्छु को बचाने के लिए एक बार फिर पानी से उठा लिया ।।।

》Real short story in hindi

बहाँ खड़ा एक दूसरा आदमी यह सब देख रहा था ।

उसने उस आदमी से कहा ।
जब आपको यह बिच्छु बार - बार डंक मार देता है । फिर भी आप उसे क्यूँ बचाना चाहते हो ?

》Short sad love story in hindi

उस आदमी ने कहा ।
बिच्छु का काम है डंक मारना और मेरा काम है बचाना । जब बिच्छु एक कीड़ा होकर भी अपना काम नहीं छोड़ सकता तो मैं इंसान होकर अपनी इंसानियत कैसे भूल जाऊँ ।।।
Short story on Humanity in hindi | इंसानियत Short story on Humanity in hindi | इंसानियत Reviewed by Mohd sarfraj on March 10, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.