Ek budi maa hindi sad sms | maa aur beta

सर्दियो का मौसम था। एक बूड़ी औरत अपने घर के एक कोने में बैठी सर्दी से कपकपा रही थीं । जवानी में ही उसका पति मर गया था । । ।

Ek budi maa hindi sad sms


उसका एक बेटा था । उस बेटे के लिए वो घर - घर जाकर काम करती थी । जब बेटा जवान हुआ तो बेटे को अच्छी नौकरी मिल गयी । फिर कुछ दिनों के बाद उसने अपने बेटे की शादी कर दी । कुछ सालो के बाद उसके घर एक बच्चा पैदा हुआ और वो बूड़ी औरत बहुत खुश थी । क्योंकि उसको लगा कि अब उसका बेटा एक लायक इंसान बन गया है । । ।

》Maa heart touching story in hindi 

लेकिन यह क्या ।। ।
वक़्त बदळा ।
अब बेटे और बहु के पास बूड़ी माँ से बात करने का भी समय नहीं था । पहले वो बहार के घरो का काम करती थी और अब अपने घर के काम से फ़ुरसत नहीं मिलती थी । फिर भी वो बूड़ी औरत खुश थी क्योंकि औलाद उसकी थी ।।।

》Mother emotional hindi story 

सरदियो के मौसम में एक चारपाई पर घर के बाहर बाले कमरे में पुराने से कंबल में सिमटकर वो बूड़ी औरत लेती थी । और सोच रही थी । । ।

आज बेटे से कहूँगी मुझे बहुत सर्दी लगती है । एक नया कंबल ला दे।
जब शाम को बेटा घर आया तो बूड़ी औरत ने कहा ।

बेटा अब मैं बहुत बूड़ी और कमजोर हो गयी हु । मुझसे सर्दी बरदास्त नहीं होती इसलिए मुझे नया कंबल ला दे

》Maa ka dil hindi emotional story 

इतना सुनते ही बेटा गुस्से से बोला ।
इस महीने रासन और बच्चे के एडमिशन में बहुत खर्च हो गया है । और तुम्हारी बहु के लिए एक नयी चादर भी लानी है । क्योंकि वो बहार जाती है और तुम तो घर में ही रहती हो सर्दी बरदास्त कर सकती हो। अगली सर्दियों में ला दूगा ।।।

बेटे की बात सुनकर माँ चुपचाप पुराने कंबल में सिमटकर सो गयी । ।
जब सुबह बेटे ने देखा तो माँ इस दुनिया से जा चुकी थी ।
फिर सब रिस्तेदार, पडोसी जमा हुए और बेटे ने माँ कि आखिरी विदाई में कोई कमी नहीं राखी थी ।

ये देखकर सब कह रहे थे ।
हमे भी खुदा ऐसा ही बेटा दे ।।।

लेकिन उन लोगो को क्या पता था कि मरने के बाद भी एक बूड़ी माँ तड़प रही थी ।
सीर्फ़ एक कंबल के लिए । 

No comments:

Powered by Blogger.