Heart touching sms in hindi | मालिक और नौकर

असलम एक सेठ के यहाँ नौकरी करता था । एक दिन वो काम पर नहीं आया तो सेठ ने समझा शायद सैलेरी कम है इसलिए असलम दिलचस्पी से काम नहीं कर रहा और सेठ ने उसकी सैलेरी बड़ा दी ।।।

Heart touching sms in hindi


जब सेठ ने असलम को सैलेरी से ज्यादा पैसे दिए तो वो कुछ नहीं बोला और चुपचाप पैसे रख लिये ।

कुछ महीनो के बाद असलम एक बार फिर काम पर नहीं आया तो सेठ को बड़ा गुस्सा आया ।
और सेठ ने उसकी बड़ी हुयी सैलेरी कम कर दी ।

》Story on helping others in hindi 

इस बार सेठ ने असलम को जितनी पहले सैलेरी थी उतनी ही दी । असलम इस बार भी चुप ही रहा और कुछ नहीं बोला ।
ये देखकर सेठ को बहुत ताज्जुब हुआ और उसने असलम से कहा ।

जब मैने तुम्हारी सैलेरी बड़ा दी तुम कुछ नहीं बोले और आज तुम्हारी सैलेरी कम कर दी फिर भी तुम कुछ नहीं बोले ।

》Badshah aur lakadhare ki kahani 

असलम ने जवाब दिया ।
जब मैं पहले काम पर नहीं आया था तब मेरे घर एक बच्चा पैदा हुआ था तो मैने समझा खुदा ने मेरे बच्चे का हिस्सा भेज दिया और जब मैं दूसरी बार काम पर नहीं आया तो मेरी माँ मर गयी थीं तो मैने समझा मेरी माँ अपने हिस्से का अपने साथ ले गयी ।।।

तो फिर मैं सैलेरी की खातिर क्यूँ परेशान रहू जिसका जिम्मा खुद खुदा ने ले रखा है ।।।

》Sad story of child in hindi 

जीन्दगी में इंसान जो कुछ भी खोता है वो उसकी नादानी होती है और जो कुछ भी मिलता है वो खुदा की महेरबानी से मिलता है ।।।

No comments:

Powered by Blogger.