कटहल खाने के फायदे | Benefits of eating jackfruit in hindi

कटहल के गूदे में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसका इस्तेमाल जैम, जेली, चटनी , केक और कई तरह की मिठाइयां बनाने में किया जाता है। कच्चे कटहल का प्रयोग कई तरह के करी, सब्ज़ी और टेस्टी डिशेस में किया जाता है। कच्चा कटहल देखने में काफी हद तक मटन जैसा लेकिन इसका स्वाद लोगों को बहुत पसंद आता है। और तो और इसके बीजो का उपयोग बहुत सारे देशो में स्नैक्स  के तौर पर किया जाता है। कटहल में बॉडी के लिए जरूरी एनर्जी और फैट न के बराबर होता है। बहुत सारे देशो में इसे शुगर सीरप में डालकर इस्तेमाल किया जाता है।

Benefits of eating jackfruit in hindi


कटहल खाने के फायदे 


● आँखों की रोशनी बढ़ाता है -:

》आँखो के रोग ठीक करने के tips 

कटहल में विटामिन ए पाया जाता है, जो आँखों की सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। साथ ही आँखों से रिलेटेड कई प्रकार की बीमारियों और इन्फेक्शन से भी बचाता है। मोटियाबिंद, आँखों से पानी आना, आँखों का सुखापन ऐसी ही कुछ गम्भीर बीमारियों के प्रकार है। एन्टी-ऑक्सीडेंट्स की मात्रा आँखों को सूरज की हानिकारक अल्ट्रा-वायलेट किरणों से भी बचाती है।

● रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाए - :

》रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के उपाय 

एन्टी-ऑक्सीडेंट्स वाले फल और सब्ज़िया फ्री रेडिकल्स से बचाते है। यह स्किन के लिए बहुत ही असरदार होते है। इससे असमय होने वाले बुढ़ापे को रोकने के साथ ही झुर्रियो की समस्या को भी ख़त्म किया जा सकता है। कटहल स्किन इन्फेक्शन, कैंसर और टूमर की प्रोब्लेम्स को जड़ से ख़त्म करता है। विटामिन सी के खज़ाने से भरपूर कटहल में जरूरी मेथनॉल और इथेनॉल होता है। कटहल खाने से इम्युनिटी पावर बढ़ती है।

● एनर्जी बढ़ाता है -:

बहुत कम फल और सब्ज़िया इंस्टेंट एनर्जी देने वाली होती है, लेकिन कटहल उनमे से एक है, क्योंकि इसमें एनर्जी देने वाले २ तत्व कार्बोहायड्रेट और कैलोरी पर्याप्त मात्रा में मौजूद है। साथ ही बॉडी में असानी से घुलने और पचने वाले शुगर जैसे फ्रुक्टोस और सुक्रोस भी होते है।

● डायबिटीज कंट्रोल करे - :

》मधुमेह का घरेलु उपचार 

डायबिटीज के मरीज़ भी बिना किसी टेंशन के कटहल का सेवन कर सकते है। ध्यान रहे की रोजाना कटहल खाना ख़राब नहीं होता, लेकिन उसके साथ रोजाना एक्सरसाइज भी बहुत ही जरूरी है।

● ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे - :

》उच्च रक्तचाप का देशी इलाज 

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में पोटैशियम बहुत ही जरूरी होता है। शरीर को रोजाना ४७०० ml पोटैशियम की जरूरत होती है, ताकि शरीर में सोडियम का बैलेंस बना रहे। पोटैशियम का बैलेंस बिगड़ने से दिल से सम्बंधित कई प्रकार की समस्या पैदा हो जाती है। इन सबके अलावा पोटैशियम हार्ट मसल्स की फंक्शनिंग सही रखता है। हमारे शरीर में रोजाना १०% पोटैशियम की जरूरत होती हैं और कटहल में इसकी प्रयाप्त मात्रा पायी जाती है। यह फ्लूइड लेवल के साथ इलेक्ट्रोलाइट लेवल के बैलेंस को भी बनाये रखता है। इससे स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

● पाचन क्रिया ठीक रखे - :

》digestion ठीक रखने के घरेलु उपचार 

कटहल को काटकर देखने से ही इसमें मौजूद रेशे नज़र आते है, जो पाचन क्रिया के लिए बहुत ही अच्छे होते हैं । यह अपच्, कब्ज़ जैसी समस्याओं से भी राहत दिलाते है। साथ ही इससे गैस की प्रॉब्लम भी दूर होती है।

● कोलन कैंसर से बचाये - :

कटहल खा कर कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी से भी छुटकारा पाया जा सकता है। सिर्फ इसका गुदा ही नहीं, इसके बीज में भी कैंसर से लड़ने के सारे गुण मौजूद होते है। एन्टी-ऑक्सीडैंट्स की मात्रा शरीर से फालतु टॉक्सिन्स को निकल कर उसे हेल्थी बनाती है। इससे कैंसर का इलाज तो नहीं किया जा सकता, लेकिन उसके होने की सम्भावना को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

● अस्थमा में फायदेमंद -:

धूल , मिट्टी और ख़राब इम्युनिटी सिस्टम के कारण अस्थमा के रोगियों की संख्या हर साल बढ़ रही है। कटहल इस रोग के मरीज़ो के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है। साँस लेने में परेशानी, अटैक आदि प्रकार की समस्याओं को कटहल के सेवन से दूर किया जा सकता है।

● बवासीर से छुटकारा -:

》बवासीर से छुटकारा पाने के tips 

बवासीर बहुत ही गम्भीर बीमारी है, जो मल द्वार के आसपास ब्लड वेसल्स के सूजन के कारण होती है। यह बहुत दर्दनाक होती है, जिससे पेट ठीक तरीके से साफ़ नहीं हो पाता और बीमारी बढ़ने पर ऑपरेशन करने तक की नौबत आ जाती है। बवासीर के लक्षण के रूप में कब्ज़ की समस्या सबसे पहले शुरू होती है। इसके लिए कटहल का सेवन बहुत ही लाभदायक होता है, क्योंकि इसमें मौजूद प्रयाप्त रेशे की मात्रा इन सभी प्रकार की परेशानियो को दूर करके पेट को चुस्त-दुरुस्त रखती है।

● हड्डिया मजबूत करे - :
       
कटहल में कैल्शियम की सबसे ज्यादा मात्रा पायी जाती है, जो हड्डीयो को हेल्थी और स्ट्रॉन्ग बनाती है। इससे आर्थराइटिस , ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियों से दूर रहा जा सकता है। वैसे तो कैल्शियम की पूर्ति के लिए डेरी प्रोडक्ट्स को बेस्ट माना जाता है, लेकिन कुछ फलो और सब्ज़ियों को खा कर  भी इसकी पूर्ति की जा सकती है।

● खून की कमी दूर करे - :

》खून की कमी दूर करने के tips 

ब्लड में रेड सेल्स की कमी हीमोग्लोबिन और एनीमिया जैसी समस्याओं को पैदा करती है। इसके कारण ऑक्सीजन की जरूरी मात्रा शरीर तक नहीं पहुच पाती और थकान, सूजन और चेहरे पर कालेपन जैसे कई लक्षण नज़र आने लगते है। कटहल आयरन से भरपूर होता हैं जिसे खाने से शरीर को जरूरी आयरन मिलता है। इसके अलावा कई मिनरल्स जैसे कॉपर और मैग्नीशियम की मात्रा भी इसमें मौजूद होती है । 

No comments:

Powered by Blogger.